Alone Shayri in Hindi

If you like this stuff, Please Share it on
  • 10
    Shares

alone shayri in hindi

 

कहने लगी है अब तो मेरी तन्हाई भी मुझसे,
मुझसे कर लो मोहब्बत मैं तो बेवफा भी नहीं।

***************************

Kahne Lagi Hai Ab Toh Meri Tanhai Bhi MujhSe,
MujhSe Kar Lo Mohabbat Main Toh Bewafa Bhi Nahin.

—————————

एहतियातन देखता चल अपने साए की तरफ,
इस तरह शायद तुझे एहसास-ए-तन्हाई न हो।

************************

Aihtiyatan Dekhta Chal Apne Saaye Ki Taraf,
Iss Tarah Shayad Tujhe Ehsaas-e-Tanhai Na Ho.

——————————

चला जाऊंगा जैसे खुद को तनहा छोड़ कर,
मैं अपने आपको रातों में उठकर देख लेता हूँ।

****************************

Chala Jaunga Jaise Ḳhud Ko Tanha Chhoḍ Kar,
Main Apne AapKo Raaton Mein Uth Kar Dekh Leta Hoon.

————————————-

कभी घबरा गया होगा दिल तन्हाई में उनका,
मेरी तस्वीर को सीने से लगा कर सो गए होंगे।

*****************************

Kabhi Ghabra Gaya Hoga Dil Tanhayi Mein Unka,
Meri Tasveer Ko Sine Se Laga Kar So Gaye Honge.

————————————-

बंद मुट्ठी से याद गिरती है रेत की मानिंद,
वो चला गया ज़िन्दगी से ज़र्रा-ज़र्रा कर के।

*****************************

Band Mutthhi Se Yaad Girti Hai Ret Ki Maanind,
Woh Chala Gaya Zindagi Se Zarra-Zarra Karke.

————————————-

काश तू समझ सकती मोहब्बत के उसूलों को,
किसी की साँसों में समाकर उसे तन्हा नहीं करते।

*****************************

Kaash Tu Samajh Sakti Mohabbat Ke Usoolo Ko,
Kisi Ki Saanson Mein Samakar Usey Tanha Nahi Karte.

————————————-

कुदरत के इन हसीन नजारों का हम क्या करें,
तुम साथ नहीं तो इन चाँद सितारों का क्या करें।

*****************************

Kudrat Ke Inn Haseen Najaaron Ka Hum Kya Karein,
Tum Saath Nahi Toh Inn Chaand Sitaron Ka Kya Karein.

———————————–

कितना भी दुनिया के लिए हँस के जी लें हम,
रुला देती है फिर भी किसी की कमी कभी-कभी।

***************************

Kitna Bhi Duniya Ke Liye Hans Ke Jee Lein Hum,
Rula Deti Hai Fir Bhi Kisi Ki Kami Kabhi Kabhi.

———————————-

तेरे बगैर इस मौसम में वो मजा कहाँ,
काँटों की तरह चुभती है बारिश की बूँदें।

****************************

Tere Bagair Iss Mausam Mein Woh Mazaa Kahan,
Kaanton Ki Tarah Chubhti Hain Barish Ki Boonden.

————————————

तुम फिर ना आ सकोगे, बताना तो था ना मुझे,
तुम दूर जा कर बस गए मैं ढूंढ़ता ही रह गया।

******************************

Tum Phir Na Aa Sakoge Batana Toh Tha Na Mujhe,
Tum Dur JaKar Bas Gaye Main Dhoondhta Hi Rah Gaya.


If you like this stuff, Please Share it on
  • 10
    Shares
  • 10
    Shares

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*