हादसों की गर्द से खुद को बचाने के लिए – माँ – पार्ट – 4

If you like this stuff, Please Share it on
  • 1
    Share

munawwar rana gazals in hindi

 

माँ – पार्ट – 4

हादसों की गर्द से ख़ुद को बचाने के लिए,
माँ ! हम अपने साथ बस तेरी दुआ ले जायेंगे,

हवा उड़ाए लिए जा रही है हर चादर,
पुराने लोग सभी इन्तेक़ाल करने लगे,

ऐ ख़ुदा ! फूल  से बच्चों की हिफ़ाज़त करना,
मुफ़लिसी चाह रही है मेरे घर में रहना,

हमें हरीफ़ों की तादाद क्यों बताते हो,
हमारे साथ भी बेटा जवान रहता है,

ख़ुद को इस भीड़ में तन्हा नहीं होने देंगे,
माँ तुझे हम अभी बूढ़ा नहीं होने देंगे,

जब भी देखा मेरे किरदार पे धब्बा कोई,
देर तक बैठ के तन्हाई में रोया कोई,

ख़ुदा करे कि उम्मीदों के हाथ पीले हों,
अभी तलक तो गुज़ारी है इद्दतों की तरह,

घर की दहलीज़ पे रौशन हैं वो बुझती आँखें,
मुझको मत रोक मुझे लौट के घर जाना है,

यहीं रहूँगा कहीं उम्र भर न जाउँगा,
ज़मीन माँ है इसे छोड़ कर न जाऊँगा,

स्टेशन से वापस आकर बूढ़ी आँखें सोचती हैं,
पत्ते देहाती रहते हैं फल शहरी हो जाते हैं !!

*************************************************

Maa – Part  – 4

Haadson ki gard se khud ko bachaane ke liye,
Maa! ham apne saath bas teri dua le jaayenge,

Hawa udaaye liye jaa rahi hai har chaadar,
Puraane log sabhi intekaal karne lage,

Ae khuda ! phool-se bacchon ki hifaazat karna,
Muflisi chaah rahi hai mere ghar mein rehna,

Hamein hareefon ki taadaad kyon bataate ho,
Hamaare saath bhi beta jawaan rehta hai,

Khud ko is bheed mein tanha nahin hone denge,
Maa tujhe ham abhi boodha nahin hone denge,

Jab bhi dekha mere kirdar pe dhabba koi,
Der tak baith ke tanhaai mein roya koi,

Khuda karein ki ummeedon ke haath peelein hon,
Abhi talak to gujaara hai iddaton ki tarah,

Ghar ki dhaleez pe raushan hai wo bhujhati aankhein,
Mujhko mat rok mujhe laut ke ghar jaana hai,

Yahin rehunga kahin umar bhar na jaaunga,
Zameen Maa hai ise chhod kar na jaaunga,

Station se waapas aa kar bhudhi aankhen sochati hain,
Patte dehaati rehte hain phal shehari ho jaate hain !!

 


If you like this stuff, Please Share it on
  • 1
    Share
  • 1
    Share

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*